Breaking News
Home / Country / कर्नाटक में सियासी संकट: कुमारस्वामी को 17 जुलाई तक साबित करना पड़ सकता है बहुमत

कर्नाटक में सियासी संकट: कुमारस्वामी को 17 जुलाई तक साबित करना पड़ सकता है बहुमत

दैनिक दिव्यज्योति

बैंगलुरू। कर्नाटक में सियासी उठापकट शुरू हो गई है। विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश 17 जुलाई को एचडी कुमारस्वामी सरकारको बहुमत साबित करने के लिए कह सकते है। रमेश ने कांग्रेस और जेडीएस के सभी 13 विधायकों के इस्तीफे मंजूर करने से मना कर दिया है। कर्नाटक में विधायकों के इस्तीफे के बादसे ही कुमारस्वामी सरकार संकट में घिरी हुई है। उधर, बीजेपी इस मौके को भुनाने में जुटी हुई है। बुधवार को बीजेपी के नेता इस मामले में हस्तक्षेप के लिए राज्यपाल से भी मुलाकात करेंगे। कुमारस्वामी को 17 जुलाई को बहुमत साबित करने के लिए बुलाया जा सकता है।

कुमारस्वामी का फाइल फोटो

स्पष्टीकरण दे विधायक:स्पीकर

स्पीकर ने कहा कि इनमें से आठ विधायकों के इस्तीफे निर्धारित प्रारूप में नहीं है और पांच अन्य को यह स्पष्टीकरण देने की जरूरत है कि उनका यह कदम क्यों नहीं दल बदल विरोधी कानून के दायरे में आता है। उन्होंने कहा कि इन विधायकों को इस्तीफो को फिर से दाखिल करने और इनकी वजहों का खुलासा करने के लिए 21 जुलाई तक का समय दिया गया है। इन 13 विधायकों में से 10 कांग्रेस और तीन जेडीएस के है।

बागियों का प्रमुख रामलिंगा:

जानकार सूत्रों के अनुसार इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायक रामलिंगा रेड्‌डी बागियों का प्रमुख बताया जा रहा है। उन्होंने और उनकी कांग्रेस विधायक बेटी सौम्या रेड्‌डी ने दिल्ली में कांग्रेसी नेता और यूपीए अध्यक्ष साेनिया गांधी से मुलाकात भी की है। वहीं बीजेपी कुमारस्वामी के इस्तीफे की मांग पर अडी हुई है। पार्टी आज विधानसभा के बाहर प्रदर्शन करेगी।

About divya jyoti

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *